home English Tracks Pritam & Adnan Sami – Bhar Do Jholi Meri Lyrics

Pritam & Adnan Sami – Bhar Do Jholi Meri Lyrics

Song Info: Presenting you Pritam & Adnan Sami – Bhar Do Jholi Meri Lyrics.

Pritam & Adnan Sami – Bhar Do Jholi Meri Lyrics

[Intro : Adnan Sami]
तेरे दरबार में दिल थाम के वो आता है
जिसको तू चाहे, ऐ नबी, तू बुलाता है
तेरे दर पर सर झुकाए मैं भी आया हूँ
जिसकी बिगड़ी, हाय, नबी, चाहे तू बनाता है

[Chorus : Adnan Sami & Choir]
भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली
भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली

भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली
भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली

[Pre-Chorus : Adnan Sami & Choir]
बंद दीदों में भर डाले आँसू
सिल दिए मैंने दर्दों को दिल में
बंद दीदों में भर डाले आँसू
सिल दिए मैंने दर्दों को दिल में

[Chorus : Adnan Sami & Choir]
हो, जब तलक तू बना दे ना बिगड़ी
दर से तेरे ना जाए सवाली
भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली, ख़ाली

[Post-Chorus: Choir & Adnan Sami]
भर दो झोली.. आक़ा जी
भर दो झोली.. हम सब की
भर दो झोली.. नबी जी
भर दो झोली मेरी, सरकार-ए-मदीना
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली

[Verse 1: Adnan Sami & Choir]
खोजते-खोजते तुझको देखो
क्या से क्या, या नबी, हो गया हूँ
खोजते-खोजते तुझको देखो
क्या से क्या, या नबी, हो गया हूँ

हो, बेख़बर दर-ब-दर फिर रहा हूँ
मैं यहाँ से वहाँ हो गया हूँ
बेख़बर दर-ब-दर फिर रहा हूँ
मैं यहाँ से वहाँ हो गया हूँ

हो, दे-दे, या नबी, मेरे दिल को दिलासा
आया हूँ दूर से मैं हो के रूहाँसा
दे-दे, या नबी मेरे, हाँ दिल को दिलासा, हो
आया हूँ दूर से मैं हो के रूहाँसा
हो, कर दे करम, नबी, मुझपे भी ज़रा सा

[Pre-Chorus: Adnan Sami]
जब तलक तू…
जब तलक तू पनाह दे ना दिल की
दर से तेरे ना जाए सवाली

[Chorus: Adnan Sami & Choir]
भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली
भर दो झोली मेरी, ताजदार-ए-मदीना
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली
भर दो झोली मेरी, हाँ या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली

[Verse 2: Adnan Sami & Choir]
जानता है ना तू क्या है दिल में मेरे?
बिन सुने गिन रहा है ना तू धड़कनें?
जानता है ना तू क्या है दिल में मेरे?
बिन सुने गिन रहा है ना तू धड़कनें?

आह निकली है तो चाँद तक जाएगी
तेरे तारों से मेरी दुआ आएगी
आह निकली है तो चाँद तक जाएगी
तेरे तारों से मेरी दुआ आएगी
ऐ नबी, हाँ, कभी तो सुबह आएगी

[Chorus: Adnan Sami & Choir]
जब तलक तू सुनेगा ना दिल की
दर से तेरे ना जाए सवाली, अल्लाह
भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली

[Pre-Chorus: Adnan Sami & Choir]
दे दरस, खा तरस मुझपे, आक़ा
अब लगा ले तू मुझको भी दिल से
दे दरस, खा तरस मुझपे, आक़ा
अब लगा ले तू मुझको भी दिल से

[Chorus: Adnan Sami & Choir]
जब तलक तू मिला दे ना बिछड़ी
दर से तेरे ना जाए सवाली
भर दो झोली मेरी, या मोहम्मद
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली

भर दो झोली, आक़ा जी
भर दो झोली हम सब की
भर दो झोली, नबी जी

भर दो झोली मेरी, सरकार-ए-मदीना
लौट कर मैं ना जाऊँगा ख़ाली

[Outro: Choir & Adnan Sami]
दम-दम अली-अली, दम अली-अली
दम अली-अली, दम अली
दम-दम अली-अली, दम अली-अली
दम अली-अली, दम अली

दम-दम अली-अली, दम अली-अली
दम अली-अली, दम अली
दम-दम अली-अली, दम अली-अली
दम अली-अली, दम अली

दम-दम अली-अली, दम अली-अली
दम अली-अली, दम अली
दम-दम अली-अली, दम अली-अली
दम अली-अली, दम अली
दम-दम अली-अली, दम अली-अली
दम अली-अली, दम अली-अली

This is the end of the Lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *